सीएम योगी के हेलीकॉप्टर के लिए काटे गए 25000 केले के पेड़, मुआवजा दिया मात्र 5 हजार


गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर से हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है। कैम्पियरगंज के हरनामपुर गांव के हनुमानगंज चौराहे पर सीएम  के कार्यक्रम के लिए बने हेलीपैड वाले खेत के किसानों को बहुत कम मुआवजा मिला। दो किसानों को तो मुआवजा भी नहीं मिला है। कार्यक्रम में शामिल होने आये लोगों की वजह से भी कई किसानों की फसल को नुकसान हुआ।

helicopter of cm yogi

एक प्रमुख समाचार वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक,  सीएम के कार्यक्रम की व्यवस्थाके लिए पीडब्ल्यूडी ने 35 लाख का टेंडर निकला था यानि कि इतना धन कम से कम खर्च तो हुआ ही लेकिन किसानों के खेत का मुआवजा देने में खूब कंजूसी की गई।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि प्रशासन ने 20 गुणे 20 मीटर क्षेत्र में हेलीपैड बनाया था और उसके चारो और 60 गुणे 60 मीटर क्षेत्र में बैरीकेडिंग की गई थी मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर को लैंड करने के लिए जिस स्थान पर हेलीपैड बनाया गया वह चार किसानों -साधूशरण, हरिओम, सुकुर अली व मिश्री चौहान का खेत है।

मिश्री चौहान ने अपने खेत में केले लगाये थे। फसल 15 दिन बाद तैयार हो जाती तो उसकी विक्रय से 25 हजार रूपये मिलते।

मिश्री चौहान की पत्नी कलावती ने बताया कि मेरे खेत से 105 केले के पेड़ काटे गये हैं। मुझे मात्र 2500 रूपये मिले हैं। मेरा बहुत नुकसान हुआ है। प्रशासन पूरा मुआवजा देने में हीलाहवाली कर रहा है। 25 हजार से ज्यादा केले के पेड़ काटे गए हैं।

yogi-three-300x179

हेलीपैड के बगल में विद्यावती देवी की रिहायशी झोपड़ी थी जिसे प्रशासन ने हटा दिया। विद्यावती ने बताया कि प्रशासन की ओर उसे सिर्फ 5 हजार रूपये दिये गये हैं। साधूशरण को तो मुआवजे के रूप में एक रुपया नहीं मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *