≡ Menu






एडीआर सर्वे ने मोदी सरकार को दिया बड़ा झटका, 55 महीनों के कार्यकाल में निकल कर आये है ये आंकड़े

आगमी लोकसभा चुनाव को देखते हुए मोदी सरकार की मुश्किले कम होने का नाम नही ले रही है. हाल में हुए एक सर्वे रिपोर्ट में जो बात निकल कर आई है, उसे मोदी सरकार की नींद उड़ गयी है. वहीं दूसरी और कुछ ही दिनों में चुनाव होने को है. ऐसे में यह रिपोर्ट मोदी सरकार के लिए कई मुसीबत खड़ी कर सकती है. तो चलिए जानते है आखिर इस रिपोर्ट में क्या खुलासा हुआ है.

सवालों के घेरे में बीजेपी सरकार

source

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि चुनावों और चुनावी प्रक्रिया पर शोध और अध्ययन करने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने हाल में ही मोदी सरकार के काम काज को लेकर एक सर्वे कार्य है.

source

इस सर्वे रिपोर्ट ने मोदी सरकार को फेल बताया है. इसी के साथ इस रिपोर्ट ने मोदी सरकार के खेमे में चुनाव के पहले बड़ा झटका दिया है. देश के ज्यादातर लोग  मोदी सरकार के कामकाज से संतुष्ट नहीं हैं.

मोदी सरकार को लगा झटका

 

जैसा की हम सब जानते है इस समय देश में चुनावी माहोल चला रहा है. वैसे में चुनाव के ठीक पहले एडीआर की रिपोर्ट बीजेपी और मोदी सरकार के लिए समस्या खड़ी कर सकती है. इस सर्वे रिपोर्ट की माने तो देश की जनता मोदी सरकार के काम काज से ना खुश है. क्युकी बीते 4 सालों में देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी बढ़ा है. इसके साथ ही नोटबंदी का फैसला भी मोदी सरकार ने जनता के लिए नही बल्कि कुछ उद्योगपतियो के लिए लागू किया था.

सरकार का प्रदर्शन बदतर

source

इस सर्वे का मुख्य मुद्दा रोजगार अवसर पैदा को लेकर था. रिपोर्ट की माने तो इस क्षेत्र में सरकार का प्रदर्शन बदतर में से एक माना गया. इस मुद्दे को एलकार  5 के स्केल पर कुल 2.15 की रेटिंग मिली. भले ही मोदी सरकार आतंकवाद एवं मजबूत सुरक्षा और सैन्य शक्ति जैसे मुद्दे पर काम किया हो, लेकिन जनता की मूल सुविधाओं को को सरकार पूरी तरह से नकार दी है. एडीआर ने यह सर्वेक्षण अक्टूबर 2018 से दिसंबर 2018 के बीच 534 लोकसभा क्षेत्रों में 2,73,487 मतदाताओं के बीच किया.

source

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment