≡ Menu






बीजेपी को बनाकर खड़ा करने वाले आडवानी ने कांग्रेस के साथ मिलकर लिया ये बड़ा फैसला।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के फैसलों ने साफ़ जाहिर कर दिया है कि बीजेपी अब जनता के दिलों में कितनी अहमियत रखती है. दूसरी तरफ कांग्रेस ने भारी मतों से जीत हासिल करने के बाद आने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारी और जोरो शोरो से करनी शुरू कर दी है. जनता भी चाहती है कि जुमलों की सरकार अब और नहीं चाहिए, “चुप रहकर काम करने वाले ज्यादा अच्छे हैं.”

बीजेपी का शर्मनाक कारनामा source

विधानसभा चुनावों के परिणामों ने तो बीजेपी के होश उड़ा रखें हैं साथ ही बीजेपी को आये दिन झटके लगते रहते हैं लेकिन फिर भी वह सुधरने का नाम नहीं ले रही है. इस बार तो बीजेपी ने हद ही कर दी सालों से पार्टी को बचाने और नई दिशा देने वाले लाल कृष्ण आडवानी को अब किनारे कर दिया. जी हाँ, आपने सही सुना ऐसा लगता है कि पार्टी के लिए अपना जीवन सौंपने वाले आडवानी अब उनके लिए अछूत बन गये हो.

आडवानी ने लिए ये बड़ा फैसलाsource

2019 के लोकसभा चुनावों में आडवानी गुजरात की गांधीनगर नगर सीट से चुनाव लड़ेंगे, उनका कहना है कि बीजेपी ने उन्हें मौका दिया तो ठीक नहीं तो वह कांग्रेस के साथ मिलकर अपनी ही पार्टी को चुनौती देंगे. आज लाल कृष्ण आडवाणी की जो दशा है उसके पीछे कोई और नहीं बल्कि मोदी ही जिम्मेदार हैं उनकी रणनीतियों के चलते आडवानी को आज ये दिन देखने पड़ रहे हैं.

जिसने बनाया उसके साथ ऐसा सलूकsource

जानकारी के लिए आपको बता दें, कि आज मोदी अगर पीएम पद पर बैठें हैं तो उसके भी पीछे आडवानी का ही हाथ है. गली-गली जाकर मोदी के लिए प्रचार करने वाले आडवाणी आज मोदी को एक आंख नहीं भाते हैं. आडवानी ने भी अब बीजेपी से उम्मीद लगाना छोड़ दिया है वह चाहते हैं कि कांग्रेस में रह कर ही जनता की सेवा की जाये को, क्योंकि वो कम से कम झूठी बयानबाजी तो नहीं करती है.

News source 

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment