≡ Menu






अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे इन दिग्गज नेताओं ने उड़ा दी बीजेपी की नींद!

उत्तरप्रदेश के अंदर राज्यसभा के चुनाव आने वाले हैं और इन राज्यसभा चुनावों के ठीक पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ये रात्रिभोज का कार्यक्रम रखा जिसमे उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव और निर्दलीय विधायक राजा भैया शामिल हुए | इस घटना से अमित शाह का राज्यसभा वाला पूरा गणित गड़बड़ा गया है | आपको ये भी बता दें कि अपने नौवें उम्मीदवार को जिताने के लिए भाजपा जिन विधायकों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही थी, वो अब सपा से हाथ मिलाते हुए नजर आ रहे हैं।

बुधवार के रोज यानी 21 मार्च को अखिलेश ने राज्यसभा चुनाव से २ दिन पहले पार्टी के सभी विधायकों को रात के खाने के लिए बुलाया | विरोधी मान रहे थे कि पुरानी नाराजगी से शिवपाल इसमें शामिल नहीं होंगे लेकिन आखरी समय में वो और राजा भैया  इसमें शामिल हुए जिससे भाजपा की मुशिकलें बढती जा रही हैं |

आपको बता दें कि यूपी में 403 विधानसभा सीटें हैं और इसमें से 324 एनडीए के पास हैं | विधायकों की संख्या के हिसाब से भाजपा अपने 8 उम्मीदवार तो आराम से राज्यसभा भेज सकती है लेकिन इसके बाद भी भाजपा के 28 विधायक बचते हैं और इस हिसाब से नौवें उम्मीदवार को जिताने के लिए भाजपा को 9 और विधायक चाहिए |यूपी में एक सांसद के चुने जाने के लिए 37 वोटों की जरूरत होगी। अगर भाजपा को सपा के सात बागी विधायकों का साथ मिल जाता है तो उसके वोटों की संख्या 35 हो जाएगी, जो बहुमत से महज दो वोट दूर है। निषाद पार्टी के एकमात्र विधायक विजय मित्रा ने भी भाजपा का साथ देने का एलान किया था।

सब कुछ भाजपा अध्यक्ष के आंकड़ों के मुताबिक होता तो उन्हें सिर्फ एक वोट की जरूरत और रह जाती, लेकिन अंतिम समय में शिवपाल और राजा भैया के अखिलेश के रात्रिभोज में नजर आने से भाजपा की उम्मीदों पर पानी फिरता हुआ नजर आ रहा है। बता दें कि निर्दलीय विधायक राजा भैया ने सपा और बसपा उम्मीदवार को समर्थन देने की बात कही है।

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment