≡ Menu






बाघिन अवनि की हत्या लोगों को बचाने के लिए नहीं बल्कि मोदी के चहेते “अंबानी” को फ़ायदा पहुंचाने के लिए की गई?

महाराष्ट्र के जंगलों में नरभक्षी बाघिन अवनि का शिकार अब सियासी रंग देता जा रहा है. जहां इस मुद्दे को लेकर मोदी सरकार लगातार घिरती जा रही है. वहीं इस मुद्दे को लेकर शिवसेना ने मोदी सरकार पर जमकर जुबानी हमला किया है. जरा सोचिये अगर जंगलो पर भी इंसान अपना हक जमाने लगे तो फिर जानवरों का क्या होगा, यह सोचने वाला विषय बन गया हैं. इस तरह के मुद्दे को सियासी रूप लेना गंभीर साबित हो सकता हैं.

यह हैं पूरा मामला source

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि बाघिन अवनि की हत्या को लेकर देश भर के लोगों में काफी गुस्सा है. बता दे कि अवनि दो छोटे बच्चों की मां थी. ये बच्चे अभी काफी छोटे हैं,मानो बिना माँ के उनकी मौत लगभग निश्चित है.जहाँ एक तरफ इस मामले को लेकर सियासत तेज गयी हैं. वहीं मेनका गांधी ने मोदी सरकार पर जुबानी हमले करते हुए कहा कि यह पूरी तरह से गैर कानूनी है. जो वन विभाग के लोग इसे बेहोश करने या करने में सक्षम हैं फिर उसे मारने का आदेश क्यों दिया गया.

मोदी सरकार चारो तरफ से घिरी source

खबरों की माने तो महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार पीछे कुछ महीनो से बाघिन टी1 की हत्या करना चाहती थी. सरकार ने इसके पीछे का कारण बताया कि अब यह अवनि आदमखोर का रूप ले चुकीं हैं. इसे जल्द से जल्द करने में भलाई है, वरना इससे आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि सरकार ने इस मकसद में सफलता हासिल कर ली. लेकिन इस मामले को सामने आने के बाद बीजेपी सरकार चारो तरफ से घिरती जा रही हैं.

कोर्ट के नियमों का उल्लंघनsource

मिली जानकारी के अनुसार इस मामले को लेकर कोर्ट ने एक आदेश में कहा था कि पहले इस अवनी को बेहोश करने की कोशिश किया जायेगा. अगर ऐसा करने में अधिकारी असफल हो जाते हैं , तब ही उसे मारा जाएगा. हालांकि अब तो ऐसा लग रहा है सरकार ने जानबूझकर कोर्ट के नियमों का उल्लंघन की है.

अवनि की मौत में रिलायंस का भी हाथ!source

आपको बता दें कि साल 2018 में मोदी सरकार ने अनिल अंबानी की कंपनी को यवतमाल के जंगल का 467 हेक्टेयर एक सीमेंट फैक्ट्री लगाने के लिए दिया था. इससे साफ है की अंबानी ग्रुप ने इस जंगल को साफ करने के लिए अवनी को मार गिरवाने का आदेश सरकार से लिया होगा.

news source 

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment