≡ Menu






जनता ने DSP को बीच चौराहे पर घसीटा, जान की भीख मांगता रहा अफसर लेकिन..

आजकल देश में पुलिस वालों की कोई इज्जत नहीं करता है और न ही उनका किसी को डर है. पुराने जमानों में अगर लोग पुलिस का नाम भी सुन लेते थे तो डर का मारे उनकी रूहं काम उठती थी, लेकिन आज गुंडागर्दी बढ़ गई है जिस पर लगाम कसना आसान नहीं है. आये दिन पुलिस वालों के साथ मारपीट भरी वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होती रहती हैं और ऐसा ही एक मामला इस बार भी देखने को मिला है.

यह है पूरा मामला

source

दरअसल, भाजपा के राज में नेताओं को गुंडागर्दी करने का जैसे परमिट मिल गया है. जो चाहता है किसी को भी मार देता है, अगवाह कर लेता है लेकिन उनके खिलाफ कोई पुलिस कारवाई नहीं होती क्योंकि उनके पीछे भाजपा का हाथ है. पीएम मोदी भी जनता को भड़काने में कोई कसर नहीं छोड़ते तो फिर जनता चुप कैसे रहेगी. हालहि में बिहार रामगढ़ में गुस्साई जनता ने मिलकर एक थाने में आग लगा दी.

DSP को किया अधमरा

source

जानकारी के लिए आपको बता दें, कि रामगढ़ में उस समय दंगा भड़क उठा जब एक दलित युवती ट्रेन से कटकर जान दे दी. गुस्साई भीड़ ने मिलकर हंगामा खड़ा कर दिया और थाने को आग के हवाले कर दिया. जब भीड़ को समझाने मोहनियां के DSP गये तो लोगों ने उनकी जमकर पिटाई की, उनके ऊपर लोग लाठी लेकर चढ़ गये और पीट-पीट कर अधमरा कर दिया.

जान की भीख मांगता रहा DSP

इस घटना का वीडियो भी पूरे सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है कि किस तरह DSP अपनी जान की भीख मांग रहा है लेकिन लोग उनकी एक नहीं सुन रहे. “इस हमले में डीएसपी को गंभीर चोटें आई हैं. उनके सिर में चोट है साथ ही हाथ भी टूट गया है. उनका इलाज बनारस में इलाज चल रहा है और स्थिति स्थिर बनी हुई है. इस उपद्रव में डीएसपी, सब इंस्पेक्टर समेत आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हुए.”

news source

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment