मोदी सरकार ने अपनी कुर्सी बचाने के लिए शाहनवाज़ के बाद अब सुषमा को भी नहीं छोड़ा !


2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान अक्सर आपने मोदी को सभाए में सुने होंगे कि देश को गुजरात जैसा बनाने के लिए 56 इंच का सीना होना चाहिए. लेकिन बीते 4 साल में इनके दूवारा किये गए जनता से वादा पूरा नहीं कर पाए. वहीँ खुद को 56 इंच का सीना बताने वाले प्रधानमंत्री मोदी इस वक्त विपक्षी दलों से मुंह छुपाते नज़र आ रहे हैं. हालांकि पीएम मोदी कई मुद्दों को लेकर विपक्षी के निशाने पर आ गए हैं.

– साल 2019 के चुनाव में चलेगा मोदी लहर ?source

आने वाले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए अच्छी ख़बर हैं. माना जा रहा हैं कि कांग्रेस ने अभी से चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. बढती महंगाई से जनता परेशान हो चुकी हैं,बीते विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जीता कर जनता ने साफ कर दिया हैं कि अगली बार नो मोर मोदी सरकार. वहीँ बीजेपी के कुछ नेता के मुताबिक आने वाले चुनाव में उन्हें काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है. जानकारों की माने तो बीजेपी इस वक़्त बेहद बुरी दौर से गुजर रही हैं. पार्टी नेता से साथ साथ अमित शाह भी बौखला हुए हैं. क्युकि आये दिन बढती महंगाई से लेकर भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में नाकाम साबित हुई हैं.

– मोदी राज में जनता तबाह हो चुकी हैंsource

मोदी सरकार की नाकामियों का बताना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि 2014 में कांग्रेस की नाकामियों  पर हमला करके और कई सारे वादे कर के ही मोदी सरकार चुनाव जीती थी. बीजेपी के राज में पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम से देश में हाहाकार मचा हुआ हैं. बीते 4 सालमे मोदी गरीब जनता को लुटाने के अलावा कोई काम नहीं किया हैं. अब तो ऐसा लगता हैं कि केंद्र की सरकार कुछ उद्योगपति के लिए ही हैं. इनके नेता आये दिन मुसलमानों पर बिबादित बयान देते रहते हैं.

– मोदी को फिर से सत्ता में आना मुश्किल होगाsource

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हाल में ही हुए सर्वे में बताया गया हैं कि बीजेपी को साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में डेढ़ सौ सीटें से ज्यादा नहीं मिल सकता हैं. ख़बरे मिल रही हैं की इस बार के लोकसभा चुनाव में  बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज, उमा भारती और सुमित्रा महाजन इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी. कांग्रेस पहले ही दाबा कर चुकी हैं कि आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी पूर्ण बहुमत से नहीं जीत सकती हैं.

news source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *