≡ Menu



सीबीआई जज लोया की मौत के मामले में आया नया मोड़, इस वजह से की गयी थी लोया की हत्या !

सुप्रीम कोर्ट के जजों द्वारा की गयी प्रेस कांफ्रेंस में उठ रहे जस्टिस लोया मामले में एक नया मोड़ ले लिया हैं. नागपुर के एक वकील द्वारा दिए गए बयान के बाद से इस केस में नया ट्विस्ट आ गया हैं. वकील ने सीबीआई जज बीएच लोया की मौत को संदिग्ध बताते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में याचिका दायर कर दिया हैं. चलिए बताते हैं आखिर पूरा मामला क्या हैं.

Like कीजिये हमारा फेसबुक पेज

वकील सतीश ऊके ने किया नया खुलासा source

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि नागपुर के सीनियर वकील सतीश ऊके ने इस केस में एक नया  खुलासा किया हैं. इनके मुताबिक जज लोया को ज़हर दिया गया था. इतना ही नहीं इन्होने बॉम्बे हाईकोर्ट में फिर से एक याचिका भी दायर किया हैं. आपको बात दे कि इस याचिका  में दाबा किया गया हैं कि जज लोया कि मौत ज़हर दे कर किया गया हैं. और उनकी मौत से जुड़ी सभी दस्तावेज मिटा दिए गए हैं.

अमित शाह को केंद्र सरकार का मिला साथsource

आपको याद दिला दे कि साल 2014 में पीएम मोदी की सरकार आने के बाद से ही बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह को गुजरात के चर्चित ‘सोहराबुद्दीन फर्जी एनकाउंटर केस’ से राहत मिल गयी थी. इतना ही नही मोदी को पीएम बनते ही एक साल से सोहराबुद्दीन मामले की सुनवाई कर रहे सीबीआई के सख्त  जज जस्टिस जे.टी उत्तपट को भी इस केस से हटा दिया गया गया. इससे साफ़ हैं कि केंद्र कि सरकार अमित शाह को बचाने की कोशिश कर रही हैं.

परिजनों ने किया खुलासाsource

बताया जाता हैं कि जस्टिस लोया ने अमित शाह को जब तक उनके उपर आरोप  तय नहीं हो जाता हैं तब तक अदालत में हाजिर होने से छूट दे दी थी. हालंकि मामले कि सुनवाई जस्टिस लोया ने 15 दिसंबर को रखा था. लेकिन 1 दिसंबर को उनकी मौत हो गई. उनकी मौत के इतने दिन बाद भी यह राज,अब धीरे-धीरे खुलने लगा हैं.

news source

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment