मोदी सरकार की मदद को किसानों ने ठुकराया, विरोध में प्रधानमंत्री को भेजी ये ख़ास भेट !


जैसा की हम सबको पता है, बीजेपी काल में देश की हालत बेहद ख़राब हो गयी है. इसके जिम्मेदार कोई और नही बल्कि पीएम मोदी खुद है. भले ही मोदी अपने आप को गरीबों की सरकार बताया है, लेकिन सचाई किसी से छुपी है. इसका ताजा उदाहरण मोदी सरकारके अंतरिम बजट में देखने को मिला है. हालांकि इस बजट के बाद से मोदी सरकार के खिलाफ बगावती सुर उठने लगे है. वही इस बजट के पास होने के बाद किसानों में मोदी सरकार के खिलाफ खासा गुस्सा देखने को मिल रहा है.

मोदी सरकार के खिलाफ बगावती सुर उठने लगे है

source

हाल ही में 3 राज्यों के विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद साफ हो गया है कि देश में मोदी लहर काम नहीं है. जनता बीते 4 सालों में बीजेपी से परेशान हो गयी है. मोदी राज में देश के किसानों की हालत सबसे ज्यादा खराब हुई है. आये दिन किसानों को लेकर बुरी खबर सामने आती रहती है. वहीं बजट में केंद्र सरकार द्वारा किसानों को पेंशन देने की घोषणा की गयी थी. लेकिन इस घोषणा के बाद ही मोदी सरकार के खिलाफ बगावती सुर उठने लगे है.

मोदी सरकार ने किसानों के साथ किया गन्दा मजाक

source

मोदी सरकार ने किसानों को सालाना 6000 रुपये दे कर किसानों के साथ गंदा मजाक किया है. आप ही सोचिये ये किसानों के साथ मजाक नहीं तो क्या है? सालाना 6000 रुपये में क्या होगा? शायद इसी वजह से किसानों में मोदी सरकार के खिलाफ आक्रोश है. वहीं किसान यूनियन के अध्यक्ष ने इस एलन को किसानों का अपमान बताया है. वहीं दूसरी और किसानों ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

किसानों के साथ धोखा किया गया है

source

मिली जानकारी के अनुसार किसान के अध्यक्ष नाना पटोले ने इस योजना का किसान विरोधी करार दिया है.इसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों को एक दिन में मोदी सरकार 17 रुपये दे कर किसानों के साथ गंदा मजाक किया है. आगे उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसानों को राहत देने के बजाय किसानों को ठेंगा दिखाने का काम किया है. सायद यही वजह है कि किसान 17-17 रुपए के चेक प्रधानमंत्री मोदी को दे रहे है.

news source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *