≡ Menu



कांग्रेस की एक ऐसी नेता जिनका लाइम लाइट में रहते बिना भी चलता है इक्का! पढ़िए पूरी खबर

एक ऐसी नेता जिनका लाइम लाइट से दूर रहने के बाद भी चलता है सिक्का,  नाम जानकर हैरान रह जायेंगे 

Like कीजिये हमारा फेसबुक पेज

देश की सबसे पुरानी पार्टी कही जाने वाली कांग्रेस पार्टी के कई बड़े नेताओं ने देश के लिए कुर्बानी दी है. देश को एक नई ऊँचाइयों पर ले जाने के लिए कांग्रेस पार्टी का बड़ा योगदान रहा है. इंदिरा गांधी और फिर राजीव गांधी की मौत के बाद जब कांग्रेस पार्टी की कमान सोनिया गांधी के हाथों में आई तो देश की अन्य राष्ट्रीय पार्टी बीजेपी के नेताओं में हडकंप मच गया था.Source

त्यागना पडा था राजनीति से सन्यास लेने का ख्याल 

साल 2016 में ऐसा मौका आया जब सोनिया गांधी ने राजनीति से सन्यास लेना चाहती थी क्योंकि इसी साल की 70 की हो गयी थी.  जिसके बाद बिहार की राजनीति में हुई उथल पुथल ने सोनिया गांधी को एक बार फिर सक्रीय मोड पर आने पर मजबूर कर दिया दरअसल बिहार में कांग्रेस की समर्थन से बनी नितीश सरकार ने बीजेपी के साथ हाथ मिलाकर सत्ता में आ गयी थी तब एक बार फिर सोनिया गाँधी सक्रीय हो गयी थी.Source

मोदी लहर पर रहती है पैनी नजर 

देश में मोदी कथाकथित मोदी लहर पर भी सोनिया गाँधी अपने नजर बनाये रखती हैं और देश की सभी विपक्षीय पार्टियों को एकजूट करने में लगी रहती है जिससे मोदी की मात दी जा सके. संसद भवन में कई बार विपक्ष को एकजूट करने के लिए सोनिया गाँधी लंच का भी आयोजन कर चुकी है.Source

पार्टी के संकटमोचन के तौर पर उठाई जिम्मेदारी 

पार्टी को कई बार मुसीबतों से निकलाने के लिए सोनिया गांधी लगातार लगी रहती हैं. विपक्ष को एकजुट करने में, किसी बड़े फैसले लेने में और देश हित में फैसले लेने के लिए सोनिया गांधी कभी पीछे नही रहती हैं. अपने कई बड़े फैसलों की वजह से सोनिया गाँधी कांग्रेस पार्टी के लिए संकटमोचन के तौर भी सामने आ चुकी है.

राजनीति में सोनिया गाँधी की तमाम कुर्बानियों के बाद भी देश और पार्टी में लगातार पर्दे के पीछे से काम करती रहती हैं जिसकी वजह से बिना लाइम लाइट में आने के बाद भी राजनीति में इनका इक्का चलता है.

नोट: दोस्तों क्या आपको भी लगता हैं कि सोनिया गाँधी ने हमेशा बिना किसी स्वार्थ के पार्टी को अपना योगदान दिया? हमे अपनी राय नीचे कमेंट कर जरुर दे और इसे शेयर भी करे.

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment