≡ Menu






बड़ी खबर : चुनाव आयोग का हैरतअंगेज फैसला, न्यूज़ चैनल ने एग्जिट पोल को दिखाया तो खैर नहीं, पढ़े

जैसा कि हम सबको पता हैं 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव ख़त्म हो गया हैं. अब हर तरफ एग्जिट पोल को लेकर होड़ लगी है. चुनाव खत्म होते ही हर न्यूज़ चैनल अपनी अपनी एग्जिट पोल दिखाने लगती हैं. इसी बीच चुनाव आयोग ने इस पर बड़ा फैसला लिया हैं. इस फैसले के बाद से राजनीतिक दलों में घमासान मचा हुआ हैं. चलिए फिर जानते हैं चुनाव आयोग ने क्या फैसला सुनाया हैं.

चुनाव आयोग ने उठाया बड़ा कदम source

आपको बता दे कि चुनाव खत्म होते ही चुनाव आयोग ने बड़ा कदम उठाया हैं. चुनाव आयोग ने एग्जिट पोल के नतीजों को देखने पर पाबंदी लगा दिया हैं. साथ ही ज्योतिषियों के जरिए चुनावी नतीजों की भविष्यवाणी पर भी रोक लगा हैं. आयोग ने साफ तौर पर कहा है कि यदि कोई चैनल ऐसा करते पकरा गया तो उसके खिलाफ सख्श करवाई कि जाएगी.  यह फैसला आयोग ने शुक्रवार को विज्ञप्ति जारी कर दिया हैं.

आयोग ने ऐसा क्यों किया source

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आयोग ने एक विज्ञापन जारी कर के बताया कि जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 126 ए के तहत लागू किया गया हैं. आयोग के मुताबिक कोई भी चैनल 12 नवम्बर से लेकर 7 दिसम्बर तक एग्जिट पोल नहीं दिखा सकता हैं. ऐसा करना गैरकानूनी होगा. आयोग ने साफ तौर पर कहा हैं 7 दिसम्बर को शाम 5.30 तक यह प्रतिबंध लागू रहेगा.

भविष्यवाणी कानून का उल्लंघनsource

चुनाव आयोग के मुताबिक मतदान खत्म होने के 48 घंटे के भीतर ज्योतिषियों, तरीके से चुनावी नतीजों को जनता के सामने रखना कानूनी जुर्म हैं.ऐसा करना धारा 126-ए का उल्लंघन माना जाएगा, साथ ही उस संस्था पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. सूत्रों की माने तो आयोग ने इस संबंध में प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन को पत्र लिख कर सूचना दी हैं.

news source

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment