≡ Menu



महिला नेता का खुलासा, “राजनेता हमें रैली से पहले बिस्तर पर ले जाते हैं और रात भर…”

हाल ही में सोशल मीडिया पर #MeToo कैंपेन बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है जिसे हॉलीवुड अभिनेत्री एलिसा मिलानो ने कुछ ही दिन पहले सोशल मीडिया पर यौन उत्पीड़न के खिलाफ शुरु किया था. इस अनोखे कैंपेन के जरिए उनका मकसद दुनियाभर की कई सेलीब्रिटी और आम महिलाओं के साथ हुए यौन उत्‍पीड़न और शोषण की घटनाओं पर रौशनी डालना था. इसके जरिए वो चाहती थीं कि हर महिला सामने आकर अपनी दुखद घटना खुद बताएं कि उनके साथ क्या-क्या हुआ है. और ऐसा हुआ भी #MeToo कैंपेन के बाद दुनियाभर से बहुत सी महिलाए सामने आई जिन्होंने अपनी कहानी भी बयां की. इन्ही महिलाओं में से एक सबसे चौकाने वाला खुलासा पाकिस्तान की एक महिला नेता ने इसी कैंपेन के अंतर्गत किया जिसमे उन्होंने जो बताया उसे सुनकर आप दंग रह जायेंगे.source

Like कीजिये हमारा फेसबुक पेज

पाकिस्तानी महिला नेता ने लगाए इस दिग्गज पर गंभीर आरोप

जी हाँ आइशा गुलालाई नाम की इस पाकिस्तानी महिला नेता ने तहरीक-ए-इंसाफ के चीफ और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान पर न केवल यौन शोषण का आरोप लगाया बल्कि कुछ ऐसा खुलासा भी किया जिसकी अब हर जगह निंदा हो रही है. बता दें कि गुलालाई ने #MeToo हैंडल के जरिए ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘राजनेता इमरान खान मुझे परेशान कर रहे हैं और उनके समर्थक मेरे चेहरे पर एसिड अटैक करने की साजिश में जुटे हुए हैं.’ source

“इमरान खान कर चुके है कई और दूसरी महिलाओं का भी शोषण” :आइशा

हालांकि ये कोई पहला मामला नही है जब पाकिस्तानी नेता आइशा ने इमरान खान पर ऐसे गंभीर आरोप लगाएं हो. बता दें कि इससे पहले भी वो इमरान पर अश्लील मैसेज भेजने के आरोप लगती आई हैं. आइशा ने दुनिया के सामने ये भी बताया कि इमरान उसी की तरह कई और दूसरी महिला नेताओं का भी यौन उत्पीड़न कर रहे हैं जिससे अब हालत ऐसे हो गये है कि इमरान खान की पार्टी में कोई भी महिला खुद को सुरक्षित नहीं महसूस करती है.source

रैली से पहले बिस्तर में ले जाते हैं नेता

पाकिस्तान की आइशा ने इस कैंपेन के जरिए ये भी खुलासा किया कि “यासत में राजनीति से ज्यादा महिला नेताओं को सेक्स करना पड़ता है. जी हाँ पाकिस्तानी नेता हम सभी महिला नेताओं को रैली से पहले बिस्तर में ले जाते हैं और फिर उनका रात भर यौन शोषण करते हैं.” बताते चले कि साल 2012 में आइशा इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ से जुड़ी थी जिसमे उन्हें केंद्रीय समिति का सदस्या भी नियुक्त किया गया था, लेकिन पार्टी में कुछ सालों तक काम करने के बाद आइशा ने उनपर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ दी थी.

नोट: दोस्तों आप इस संदर्भ में क्या राय रखते है हमे नीचे कमेंट कर जरुर बताएं और इस पोस्ट को शेयर भी करे.

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment