≡ Menu



जब 12 साल की अपनी ही बेटी को एक माँ ने कोठे पर बेचा लेकिन 24 की होने पर वो वापस आई तो…

एक माँ और एक बेटी का रिश्ता दुनिया में सबसे प्यारा होता है लेकिन अगर आपको ये सुनने को मिल जाए कि एक माँ ने अपने ही हाथों से अपनी ही लाड़ली का एक कोठे पर कुछ रुपयों के लिए सौदा कर दिया तो..? यक़ीनन आपको भी झटका लगेगा. और इसी बात को सच करते हुए एक ऐसा ही शर्मनाक मामला हाल ही में देखने को मिला जिसे जिसने भी सुना उनकी आँखे नम हो गई.source

Like कीजिये हमारा फेसबुक पेज

एक माँ ने अपनी 12 साल की मासूम को कोठे पर बेचा

इस घटना पर विश्वास करना इसलिए भी मुश्किल है क्योंकि हर कोई यही जानता है कि दया की मूर्त एक माँ अपने बच्चे को चोट लगने पर खुद दर्द से कर्राह उठती है, लेकिन वहीं इस माँ ने सारी मानवता की हदें पार करते हुए जो काम किया उसके बारे में कोई व्यक्ति कल्पना भी नहीं कर सकता.source

12 साल की लड़की 24 की उम्र में दुनिया के सामने अपनी आपबीती लेकर आई

दरअसल, इन दिनों सोशल मीडिया पर मध्यप्रदेश के जबलपुर की रहने वाली एक मासूम 12 साल की बच्ची की दर्दनाक कहानी वायरल हो रही है जिसे उसकी ही सगी माँ ने नागपुर के एक कोठे में 12 साल पहले कुछ रुपयों के लिए बेच दिया था. जिस वक्त माँ ने उसे बेचा उस वक्त उसकी उम्र महज 12 साल थी लेकिन 24 साल की होने पर उसने दुनिया के सामने आकर एक ऐसा खुलासा किया जिसने न केवल माँ के नाम को कलंकित किया बल्कि हर किसी का दिल पिघला भी दिया.source

जानिए पूरी घटना के बारें में:-

जानकारी के लिए बता दें कि आज से करीब 12 साल पहले जबलपुर की रहने वाली एक 12 साल की लड़की को उसकी ही मां ने जल्लादों के हाथों एक कोठे पर बेच दिया ये कहानी लड़की ने 24 साल की होने पर खुद दुनिया को बताई. लड़की ने अपनी दुखभरी गाथा सुनाते हुए बताया कि “बेचे जाने के बाद लगातार 12 साल तक उसका शोषण होता रहा और वो चाहकर भी कुछ नहीं कर पायी.” उसके मान में हमेशा से ही ये दुःख था कि आखिर उसकी ही अपनी माँ ने उसे इस दलदल में फेंका है, लेकिन किसी ने सच ही कहा है कि ऊपर वाले के घर में देर है मगर अंधेर नहीं.source

जब ग्राहक ही बना फ़रिश्ता:- 

ऐसा ही कुछ इस लड़की के साथ 12 साल बाद हुआ जब हालातों की मारी इस मासूम लड़की की ज़िन्दगी में जिस वक्त सबकुछ खत्म हो चला था उस वक्त उसी का एक ग्राहक उसका फरिस्ता बन गया. जिसने न केवल लड़की को देहव्यापार के इस चंगुल से निकला बल्कि जब लड़की ने उस लड़के को अपनी आपबीती सुनाई तो उस फ़रिश्ते बने लड़के ने लड़की के परिजनों को तलाश करने में भी लड़की की मदद की. तलाश करने के लिए लड़के ने पुलिस की भी मदद लेते हुए पहले तो लड़की को उस  दलदल भरे कोठे से मुक्त कराया.source

लड़की की आपबीती सुन पुलिस के भी निकल गये आंसू:-

पुलिस की आँखे भी उस वक्त भर आई जब इस लड़की ने उन्हें बताया कि जब वो महज 12 साल की थी तो पिता की खराब मानसिक हालत के चलते एक दिन उसकी माँ ने कोठे पर ये कहकर भेजा कि यहां पर तेरी पढ़ाई-लिखाई सही से हो जाएगी. मासूम लड़की को माँ की शर्मनाक मंशा उस वक्त पता चली जब वो नहाने के बाद बाहर आई जहाँ उसने अपनी माँ को गायब पाया. तब उसे ऐहसास हुआ कि वो कोई स्कूल नहीं बल्कि एक कोठा था जहाँ उसकी ही माँ ने उसे जिस्म बेचने के लिए बेच दिया था.source

12 साल घर लौटी तो पहले ही माँ की हो चुकी थी मौत:-

जब पुलिस लड़की के घरवालों को ढूढ़ते हुए उसके गाँव पहुंची तो वहां जाकर मानो उसके पैरों तले जमीन ही खिसक गई क्योंकि जिस सवाल को अपनी माँ से पूछने वो 12 साल बाद अपने घर लौटी थी उस सवाल का जवाब देने के लिए उसकी माँ जिन्दा ही नहीं थी. बता दें कि लड़की के घर पहुँचने से चार-पांच साल पहले ही उसकी माँ की मौत हो चुकी थी और आज उसके पिता और उसका एक छोटा भाई बदहाली में मजदूरी करते हुए किसी तरह अपना बसर कर रहे थे. लड़की के मन का सवाल कि “आखिर उसकी माँ ने अपनी लाड़ली को ये सजा क्यों दी” हमेशा ही एक सवाल बनकर रह गया.

नोट: दोस्तों अब आप ही इस लड़की के सवाल का जवाब दीजिये कि आखिर इसकी माँ ने इसे ऐसी सजा क्यों दी..? आप अपना जवाब हमे कमेंट करके दे सकते है और इस पोस्ट को शेयर भी करे.

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment