≡ Menu



मोदी का मास्टर-स्ट्रोक, एक झटके 1 लाख फ़र्ज़ी कंपनियों का किया यह हाल

नई दिल्ली– जीएसटी लॉन्चिंग के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने एक और ऐतिहासिक आयोजन में हिस्सा लेते हुए चार्टर्ड अकाउंटेंट के नए कोर्स का विमोचन किया। शनिवार को इस मौके पर पीएम मोदी ने करप्शन और ब्लैकमनी के खिलाफ अपनी सरकार के अभियान की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘एक तरफ पूरी सरकार, मीडिया और व्यापारी जगत का ध्यान 30 तारीख को रात 12 बजे पर था। लेकिन, इससे 48 घंटे पहले ही 1 लाख फर्जी कंपनियों पर ताला लगा दिया गया। सिर्फ एक कलम चलाकर यह बड़ा काम कर दिया गया।’ इस पर अपनी सरकार की पीठ थपथपाते हुए मोदी ने कहा कि इस तरह के फैसले राष्ट्र जीवन जीने वाले लोग ही ले सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि तीन लाख से ज्यादा कंपनियां संदेह के दायरे में हैं। 37 हजार ऐसी कंपनियों की पड़ताल की गई है, जो इधर के पैसे उधर करने का काम करती थीं। उन्होंने कहा कि यह बड़ा काम है कि एक कलम पर ही एक लाख कंपनियों को कंपनी रजिस्ट्रार के रजिस्टर से हटा दिया गया।

Like कीजिये हमारा फेसबुक पेज

पीएम ने कहा कि 3 लाख से ज्यादा रजिस्टर्ड कंपनियां ऐसी सामने आई हैं, जिनका लेन-देन संदेह के दायरे में है। उन्होंने कहा कि अभी कुल आंकड़ों का विश्लेषण नहीं हुआ है। ऐसे में यह आंकड़ा बढ़ सकता है। इकॉनमी को बचाने के लिए अपने प्रयास गिनाते हुए मोदी ने कहा, ‘8 नवंबर सभी को याद है। मैंने सुना है कि आप लोगों को 8 नवंबर के बाद इतना काम करना पड़ा कि करियर में कभी नहीं किया था। मैंने सुना था कि तमाम सीए दिवाली की छुट्टियां मनाने गए थे, लेकिन वापस लौट आए। कहा जाता है कि तमाम सीए ऑफिस रात-रात भर चलते थे।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘मुझे मालूम नहीं है कि आपने लौटकर क्या काम किया। देश के लिए किया या फिर क्लाइंट के लिए किया। लेकिन, काम किया जरूर था।’ ‘पीएम मोदी ने देश में मोटी कमाई के बावजूद टैक्स न देने वाले लोगों की बड़ी संख्या की ओर इशारा करते हुए कहा कि बड़ी गाड़ियां लेने वाले और विदेशों में घूमने वाले करोड़ों लोग हैं, लेकिन सिर्फ 32 लाख लोगों ने अपनी आय 10 लाख से अधिक बताई है। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने अब तक 37 हजार मुखौटा कंपनियों की पहचान कर ली है।

अकाउंटेंट्स पर कसा तंज, कहा- क्लाइंट्स को दिखाएं सही रास्ता
पीएम मोदी ने कहा कि ये कंपनियां किसी न किसी आर्थिक डॉक्टर के पास जरूर गई होगी। मुझे पता है कि आप लोगों के पास नहीं आई होगी। लेकिन, जिनके पास गई क्या उन्हें उनको पहचानने की जरूरत नहीं थी। पीएम मोदी ने तंज कसते हुए कहा, ‘जिन्होंने ऐसे लोगों को रास्ता दिखाया हो, क्या आपके भीतर बैठे ऐसे लोगों को पहचानने की जरूरत है या नहीं।’ पीएम मोदी ने कहा कि देश में 2 लाख 72 हजार से ज्यादा अकाउंटेंट्स हैं। ये लोग कंपनियों और नागरिकों को रास्ता दिखाते हैं, लेकिन यही लोग यदि रास्ता गलत दिखाएं तो क्या होगा। पीएम मोदी ने कहा कि आपको अपने क्लाइंट्स को ईमानदारी के रास्ते पर ले जाने के लिए कमान संभालनी होगी।

‘एक सदस्य चोर हो जाए तो बर्बाद हो जाता है घर’
चार्टर्ड अकाउंटेंट्स असोसिएशन ऑफ इंडिया के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि मेरी और आपकी देशभक्ति में कोई कमी नहीं है। मैं जितना देश को आगे बढ़ते देखना चाहता हूं, उतना ही आप बढ़ते देखना चाहते हैं। पीएम मोदी ने कहा, ‘बही को सही करने वाले मेरे साथियों इसी तरह कोई भी देश बड़े से बड़े संकटों से उबर सकता है। कोई भी समस्या हो, उससे जनता और प्रशासन अपने सामर्थ्य से निपट सकते हैं। लेकिन कुछ लोगों को यदि चोरी की आदत लग जाए तो जैसे परिवार नहीं खड़ा हो पाता है, उसी तरह देश भी खड़ा नहीं हो पाता।’

‘आधा हो गया स्विस बैंकों जमा भारतीयों का धन’
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘स्विस बैंक ने बताया है कि भारतीयों द्वारा जमा राशि अब तक के रेकॉर्ड में सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। 1987 में स्विस बैंकों ने बताना शुरू किया था कि किस देश के लोग कितनी रकम जमा करा रहे हैं। हाल में आई पिछले साल की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीयों की जमा रकम में 45 पर्सेंट तक की कमी आई है।’ उन्होंने कहा, ‘2014 से ही गिरावट का जो दौर शुरू हुआ था, वह और तेज हो गया है। 2013 का आंकड़ा कहता है कि उस वक्त 42 पर्सेंट इजाफा हुआ था।’

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment