≡ Menu






तो इस वजह से लगे हैं संसद भवन में उलटे पंखे, जानिये आखिर क्या है कारण

संसद भवन में लगे उल्टे पखों की वजह जानते हैं आप, जानिये इसके पीछे का दिलचस्प कारण!

देश की विशालकाय इमारतों में एक संसद भवन  के बारे में जानने के बारे में हर कोई उत्सुक रहता है लेकिन सदन की कार्यवाई के समय ही संसद का कुछ हिस्सा देख पाते हैं. आपने संसद में किसी खास मौके पर अगर ध्यान से देखा होगा तो आपको वहाँ उल्टे पंखे लगे दिखाई दिए होंगे आखिर क्या किस वजह से ये पंखे उलटे लगाये हैं जानिये इसके पीछे की वजह!Source

संसद भवन के पंखे उल्टे क्यों?

दरअसल संसद भवन देश की एतिहासिक इमारतों में से एक हैं.संसद भवन का निर्माण करने की नींव 12 फरवरी 1921 को ड्यूक ऑफ कनाट  ने रखी थी इन्ही के नाम पर दिल्ली में  मशहूर जगह कनाट प्लेस भी है. संसद भवन उस समय महज 83 लाख रुपये और 6 वर्ष में बनकर तैयार हुआ था. आइये हम आपको अब बताते है कि आखिर संसद भवन में उलटे पंखे क्यों लगे हुए हैं.Source

तो इस वजह लगे हैं उल्टे पंखे!

लोगों की उत्सुकता को देखते हुए जब इस बात की खोजबीन की गयी तो पता चला कि ये पंखे शुरू से ही उलटे लगे हुए हैं. तब से ये पंखे ऐसे ही लगे हुए हैं. संसद भवन की खास बातों में इसे भी शामिल किया गया है जो इसे एतिहासिक बनाती है.  मशहूर वास्तुविद लुटियन ने संसद भवन को डिजाइन किया था. यह देश की सबसे बड़ी धरोहरों में से एक है. संसद भवन में ही दोनों सदन लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही चलती है.Source

कुछ ख़ास मौके पर ही हमें संसद भवन के कुछ अन्य हिस्सों को देखने का मौका मिलता है. ऐसे में हम आपको बता दें कि संसद भवन को सर्कुलर हाउस भी कहा जाता है और ये लगभग 6 एकड़ (24281.16 वर्ग मीटर)  में फैला हुआ है. गोल आकार में बने संसद भवन की परिधि परिधि 536.33 मीटरऔर व्यास 170.69 मीटर है. संसद भवन में की गयी कलाकारी  इसे विश्व में अनोखा बनाती है.

नोट: दोस्तों क्या आपको संसद भवन में उलटे पंखों के पीछे की असल वजह पता थी? हमे अपनी राय नीचे कमेंट कर जरुर दें और इस खबर को भी शेयर करे.

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment