≡ Menu






रिपोर्ट : दिखावे के लिए पीएम मोदी ने चार गांवों को लिया था गोद, लेकिन सांसद खर्चे से एक फूटी कौड़ी भी नहीं की खर्च !

आपको जानकर हैरानी होगी की पीएम मोदी दिखावे की राजनीति करने में काफी हद तक आगे निकल चुकी है. यह हम नहीं बल्कि RTI से मिली जानकारी के आधार पर कह रहे है. हाल में ही RTI ने एक हैरतअंगेज जानकारी देते हुए सबको चौंकाने का काम किया है. बताया जा रहा है कि मोदी ने अपने एलन में कहा था की बीजेपी के हर एक सांसद को कम से कम एक गाव गोद लेना है. लेकिन बीते 4 सालों में इसके पीछे की सच्चाई निकल कर जनता के सामने आ चुकी है.

पीएम मोदी को लगा बड़ा झटका

source

आपकी जानकारी के लिए बता दे को पीएम बनाने के बाद मोदी ने अपने एलन में कहा था की बीजेपी के संसाद को कम से कम एक गाँव गोद लेना है. इतना ही नहीं उस एलन के मुताबिक ससाद को अपने कोटे से उस गाँव के विकास के लिए काम करना होगा. इसी दिखावे के लिए हमारे देश के पीएम मोदी ने 4 गाव को गोद ले लिया. लेकिन अब इसके पीछे की सच्चाई जानकर आपके नीचे से जमीन खिसक जाएगी.

RTI से हुआ बड़ा खुलासा

source

मिली जानकारी के अनुसार जब RTI से मोदी द्वारा लिए गाव की जानकारी मांगी गयी तो उसके जबाब में RTI ने चौकाने वाला खुलासा किया है. RTI से मिली जानकारी के मुताबिक मोदी द्वारा लिए गाव के विकास कार्य पर एक रूपया भी खर्च नहीं किया गया है. इतना ही नहीं गोद लिए गाँव में विकास कार्य अभी तक शुरू भी नहीं हुआ है. अब आप खुद ही सोचिये पीएम मोदी इससे भी चुनावी जुमला साबित कर देंगे.

यह है पूरा मामला

source

आपको बताते चले कि कन्नौज के निवासी अनुज वर्मा ने RTI दायर करते हुए पीएम मोदी द्वारा गोद लिए गए गांव का विवरण मांगा था. अनुज ने अपने RTI में पूछा था कि पीएम मोदी कौन सा गाँव, किस तारीख को गोद लिया, और सांसद कोटे से अभी तक कितनी राशि खर्च हुई है,और क्या-क्या काम हुआ है? इसी के जबाब में RTI ने खुलासा करते हुए मोदी सरकार की पोल खोल दी है.

NEWS SOURCE

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment