RTI में हुआ खुलासा कैसे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिये बीजेपी गरीबो को बना रही हैं मुर्ख


पीएम मोदी के रोजगार पैदा करने वाले इस योजना की हकीकत आई सामने, सच्चाई जानकर आपको भी नही होगा यकीन 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2014 विधानसभा चुनाव के दौरान देश में प्रति वर्ष लाखों रोजगार पैदा करने का वादा किया था हालाँकि अभी भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किया गया एक भी वादा पूरा होता दिखाई नही दे रहा हैं. जल्द ही आम चुनाव होने वाले हैं ऐसे में अब मोदी सरकार के वादों को लेकर सवाल किया जाने लगा है. हाल ही रोजगार को लेकर जो आकडे सामने आये हैं उसे जानने के बाद तो आप यकीन नही कर पायेंगे!Source

मुद्रा योजना के हैरान कर देने वाले आकडे!

दरअसल पिछले साल प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरुवात की थी जिसमें रोजगार की शुरुवात करने वालों को आर्थिक मदद दी जानी थी. आरटीआई के ज़रिये सामने आये आकड़ों ने तो सबको हैरान कर दिया है. ‘द वायर डॉट इन’ के अनुसार  जितने  भी लाभार्थियों  लों दिया गया है उनमें से सिर्फ 1.3 फीसद को ही स्‍वरोजगार के लिए 5 लाख या उससे ज्यादा का कर्ज दिया गया है.Source

इतने पैसों में कौन सा व्यवसाय?

आरटीआई कार्यकर्ता चन्दन काम्हे का के आवेदन पर प्राप्त आकड़ों के हिसाब से 2017-18 के दौरान इस योजना के तहत 4.81 करोड़ लोगों को कुल 2,53,677.10 करोड़ रूपये लोन दिया गया है इसका मतलब यह हुआ कि प्रत्येक लाभार्थी को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए महज 52, 700 रूपये ही मिले. जानकारों  कहना है कि    इतने रूपये में ऐसा कोई व्यवसाय नही शुरू किया जा सकता है जिसमें किसी को रोजगार मिल सके. किसी को रोजगार देने लायक व्यवसाय के लिए कम से कम 5 लाख रुपयों की जरूरत होती है.Source

अब प्रधानमंत्री के मुद्रा योजना से पैदा होने वाले रोजगार के बारे में आप अंदाजा तो लगा ही सकते हैं. इसके साथ लगातार देश की तरक्की को तरक्की की दिशा में ले जा रहे प्रधानमंत्री के योजनाओं की सच्चाई भी सब आप समझ ही गये होंगे!

नोट: दोस्तों क्या आपको भी लगता हैं कि केंद्र इस योजना से गरीब जनता को केवल बरगला रही है? हमे अपनी राय नीचे कमेंट कर जरुर दें और इस खबर को भी शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *