≡ Menu



किसान आंदोलन में दिखा लाठीचार्ज का साइड इफेक्ट, एक लाख किसानो ने बीजेपी पार्टी छोड़ने का किया फैसला !

आपको बता दे की हरिद्वार से दिल्ली के लिए किसान क्रांति यात्रा को दिल्ली पहुंचे से पहले ही बीजेपी सरकार घबरा गई हैं. क्युकी दिल्ली में किसानो को घुसने नहीं दिया जा रहा हैं. किसानो पर पुलिस डंडे के साथ आंसू गैस के गोले भी चलाये हैं. इस मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने  मोदी सरकार पर हमला बोला है.source

Like कीजिये हमारा फेसबुक पेज

आपको बता दे की राहुल ने ट्वीट करते हुए कहा हैं कि विश्व अहिंसा दिवस पर बीजेपी  का दो-वर्षीय गांधी जयंती समारोह शांतिपूर्वक दिल्ली आ रहे किसानों की बर्बर पिटाई से शुरू हुआ. क्या अब किसान अपना दर्द भी मोदी को नहीं सुना सकते हैं?

किसानो पर लाठीचार्ज निंदनीयsource

जैसा की पीएम मोदी अपने भाषाण में कहा करते थे कि बीजेपी सरकार गरीबो और किसानो के लिए हैं. लेकिन अफ़सोस इनके ही राज में किसान मजबूर हो कर आत्हत्या जैसे कदम उठा रहे हैं. हाल में ही किसानो ने अपनी मांग को लेकर दिल्ली में शांति पूर्वक प्रदर्शन करने आ रहे थे, लेकिन इनको दिल्ली मा घुसने नहीं दिया गया.

जानकारी के लिए बता दे की पीएम मोदी और राजनाथ जी के बाद पुलिस ने किसानो के उपर ताबर-तोर लाठिया चलाने लगये. मिली जानकारी के अनुसार इसमें काफी लोग घायल हो गए हैं. इतना ही नहीं किसानो को  बुरी तरह से खदेड़ खदेड़ कर पीटा भी गया हैं.

विपक्ष ने बीजेपी पर साधा निशानाsource

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला  ने मोदी पर सवाल पूछते हुए कहा कि सैकड़ों किलोमीटर की पदयात्रा कर हजारों किसान अपनी मांगों को लेकर आपके द्वार आए. अगर महात्मा गांधी के विचारों को आत्मसात किया होता तो किसानों को बर्बरतापूर्वक लाठियां नहीं, उनकी मांगों की सौगात दी होती. इससे साग पता चलता हैं की मोदी गर्बिको के लिए नहीं बल्कि उद्योगपतियो की सरकार हैं.

किसानों ने बीजेपी को सबक सिखाने का किया वादाsource

इस विरोध के बाद राष्ट्रीय किसान यूनियन ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव एवं मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ विधानसभा में चुनाव में भाजपा के विरोध में मतदान करने का फैसला लिया हैं. इस समेलन के बाद किसानो ने कहा कि मोदी घमंड में चूर हो गये हैं, इन्हें जमीन पर लाना जरुरी हो गया है.

news source

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment