कहानी उस शेर सिंह राणा की जिसने पृथ्वीराज चौहान की अस्थियां देश लाकर सत्ताधारी पार्टियों को तमाचा मारा


हिन्दुओं के महान सम्राट पृथ्वीराज चौहान की वीर गाथाओं के बारे में हम बचपन से ही सुनते आए है, लेकिन उनके गौरव की कहानियों के साथ हमे ये भी पढ़ाया गया था कि दुश्मनों को पाताल की सैर मिनटों में कराने वाले पृथ्वीराज चौहान सालों से आतंकियों से घिरे अफगानिस्तान की धरती में दफ़न थे.source

वो शख्स जो पृथ्वीराज चौहान की अस्थियाँ वतन लेकर आया

लेकिन 21वी सदी के एक वीर सपूत ने अपने कुल के स्वाभिमानी पृथ्वीराज चौहान की अस्थियाँ हिन्दुस्तान लाकर वो कर दिखाया जो कोई भी सत्ताधारी पार्टी सालों तक नहीं कर पाई.source

शेर सिंह राणा से जुडी अनोखी कहानी

जी हाँ, दोस्तों हम बात कर रहे हैं 17 मई 1976 को रुड़की में सिसोदिया कुल में जन्में “शेर सिंह राणा” उर्फ़ पंकज सिंह की. जिन्होंने अपने बुलंद हौसलों से वो कारनामा कर दिखाया जिसे सदियाँ याद रखेंगी. आज हम इन्हीं के जीवन से जुड़ें कुछ बेहद अनोखें शीर्षकों पर एक वीडियो द्वारा प्रकाश डालेंगे.source

फूलन देवी के क़त्ल का गुनहगार है राणा

शेर सिंह राणा इन दिनों यूँ तो डकेत फूलन देवी के क़त्ल के दोष में जेल मे बंद है, लेकिन इन्होने देश के महान सम्राट के सम्मान को बनाए रखने के लिए वो कार्य किया जो दुनिया ने देखा ही नहीं सरहाया भी.source

वीडियो में देखें पृथ्वीराज चौहान की अस्थिया कैसे आई भारत

जानकारी के लिए बता दें कि जिस वक्त शेर सिंह राणा दुनिया की सबसे मह्फुस जेलों में से एक तिहाड़ जेल में ये जानकारी मिली की अफगानिस्तान मे मोहमद गौरी की मजार के बाहर अंतिम हिन्दू सम्राट महान “पृथ्वीराज चौहान ” की अस्थिया रखी गई है जिन्हें आज तक वहां जाने वाला हर शख्स जूते मारकर उसे अपमानित करता है.

तो मानों राणा के अन्दर का राजपूत खून खौल उठा और फिर उन्होंने जो कुछ किया वो आप निचे दी गई वीडियो में देख सकते है.

वीडियो में देखें शेर सिंह की वीर गाथा:-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *