≡ Menu






केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी की बढ़ाई मुश्किलें !

बीजेपी पार्टी अपने झूठे वादों के लिए देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मशहूर है. याद दिला दे कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने जनता को बड़ा-बड़ा सपना देखने का काम किया था. मोदी ने अपने चुनावी भाषण में कहा था कि अगर बीजेपी की सरकार आएगी तो देश से महंगाई, भ्रष्टाचार जैसे अहम मुद्दे को जड़ से ख़त्म कर देंगे. लेकिन बीते 4 सालों में ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला है.

बीजेपी की खुली पोल

source

धीरे धीरे बीजेपी सरकार की पोल खुलती जा रही है. हाल ही के दिनों देश के मोदी राफेल घोटाला में घिरे हुए थे. अभी वह मामला शांत भी नहीं हुआ, तब तक बीजेपी एक और मामले में घिरती जा रही है. बता दे कि मराठा आंदोलन की आंच में पूरा देश सुलझ रहा था. इसी बीच मोदी के केंद्रीय मंत्री का एक बयान आग में घी डालने का काम किया है.

आरक्षण के मुद्दे पर नितिन गडकरी का बड़ा बयान

source

मोदी द्वारा किये गए सारे वादों को नितिन गडकरी ने पोल खोल कर रख दिया है. आपको बता दे की नितिन ने आरक्षण के मुद्दे पर मोदी को घेरते हुए कहा कि जब देश में नौकरी ही नहीं है, तो आरक्षण देने से क्या होगा. आगे गडकरी ने कहा की किसी भी सेक्टर में जब जब ही नहीं है, तो सरकार आरक्षण दे कर क्या करेंगे. सरकार अपने वोट बैंक के लिए किस समुदाय को जितना चाहती है उतना आरक्षण दे रही है.

आरक्षण एक जुमला ..

source

नितिन गडकरी का बेतुका बयान से साफ हो गया है की सरकार अभी भी जनता को धोखा देने से बाज नहीं आ रही है. हाल ही के दिनों में मोदी सरकार ने सामान्य वर्ग को 10% आरक्षण देने का फैसला की है. वहीं जानकारों की माने तो संविधान में आर्थिक आधार पर आरक्षण देने का कोई प्रावधान नहीं है. सरकार अभी भी जनता को धोखा में रखने का काम कर रही है.

news source

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment