≡ Menu






योगी सरकार ने नहीं सुनी गुहार, अपनी किडनी बेचने को मजबूर हुई बेबस मां

आगरा। प्रदेश की योगी सरकार का संवेदनहीनता का मामला सामने आया है। यहां एक बेबस मां अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए कठिन समय से गुजर रही हैं। पहले उसने परिवार की आर्थिक तंगी को लेकर स्थानीय अधिकारियों से गुहार लगाई। यही नहीं सीएम योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात की लेकिन आश्वासन के सिवा उसे कुछ नहीं मिला। पीएम मोदी को भी पत्र लिखा लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। इससे आहत होकर महिला ने अब सोशल मीडिया पर अपने गुर्दे को नीलाम करने की बात कही है।

महिला ने पीएम मोदी और सीएम योगी को जो खत लिखा उसे फेसबुक पर अपलोड किया गया है। इसमें लिखा है कि जिसको भी गुर्दे की जरूरत पड़े, वह उससे संपर्क कर सकता है।

maa1

मामला आगरा के रोहता क्षेत्र का बताया जा रहा है। जहां आरती अपने पति और तीन बेटियों एवं एक बेटे के साथ रहती हैं। आरती के पति मनोज कुछ समय पहले रेडीमेड कपड़ों का काम करते थे, लेकिन अचानक उनका काम बंद हो गया। इसके बाद आरती का पूरा परिवार पैसे की कमी की वजह से तकलीफ झेल रहा है।

यहीं नहीं पैसो की कमी के चलते आरती अपने बच्चों की तीन महीने की फीस भी नहीं भर पायी जिसके चलते बच्चों को स्कूल ने बाहर कर दिया। स्कूल से बच्चों को निकाल देने के बाद आरती ने पहले लोकल स्तर के अधिकारियों के सामने मदद की गुहार लगाई, लेकिन अधिकारियों ने आरती की बिल्कुल न सुनी। उसके बाद आरती उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने के लिए लखनऊ जा पहुंचीं और वहां सीएम योगी से भी मुलाकात की।

maa-klle

आरती को योगी आदित्यनाथ ने पूरी तरह से भरोसा दिलाया कि उसकी बेटियों को पढ़ाई के लिए पूरा खर्चा सरकार देगी, लेकिन आज तक उसकी सुनवाई नहीं हुई। उसके बाद आरती ने अपनी जिंदगी को दांव पर लगाते हुए ऐसा कदम उठाया कि अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए उसने एक पत्र फेसबुक पर अपलोड करा दिया। जिसमें उन्होंने अपना गुर्दा बेचने की बात कही है।

{ 0 comments… add one }

Leave a Comment